अधेड़ महिला से दुष्कर्म कर प्राइवेट पार्ट को पहुंचाया नुकसान, फिर की हत्या

0
158

रायपुर: छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा में एक महिला के साथ निर्भया जैसी दरिदगी हुई है। आरोपी ने महिला को पहले हवस का शिकार बनाया, फिर उसके प्राइवेट पार्ट में तवे का मूठ डाल दिया। उसके गले और छाती को पैरों से रौंद डाला, जिसके कारण महिला की हडि्डयां टूट गईं, फेफड़े फट गए और महिला की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने दरिंदे को गिरफ्तार कर लिया है।

ये भी पढ़ें- नाम बदलकर प्रेम जाल में फंसाया , धर्म परिवर्तन करवाकर किया निकाह

रविवार को 55 साल की अधेड़ महिला का शव उसके घर में अर्धनग्न हालत में मिला। करीब तीन साल पहले महिला के पति की मौत हो गई थी। उसका कोई बच्चा भी नहीं है। वह लोगों के घरों में काम करती थी। दो दिन तक जब महिला घर के बाहर नहीं निकली तो पड़ोसियों ने घर में जाकर देखा। घर के दरवाजे पर ही महिला का शव पड़ा हुआ था।

शव मिलने के कुछ ही घंटों बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पहले तो वह पुलिस को गुमराह करने लगा लेकिन सख्ती से पूछताछ में उसने महिला से दुष्कर्म और हत्या करने की बात कबूल कर ली। आरोपी सूरज ने पुलिस को बताया कि 2 जुलाई की रात वह पोड़ीभांठा में घूम रहा था, तभी उसे मकान का दरवाजा खुला दिखाई दिया। वहां एक महिला अकेले सोई हुई थी। यह देखकर वह अंदर घुस गया और डरा-धमकाकर दुष्कर्म किया।

ये भी पढ़ें-  जादू-टोने के शक में महिला की पीट-पीटकर हत्या, घर से घसीटकर ले गए आरोपी

वह दोबारा भी दुष्कर्म करना चाहता था, लेकिन तब तक महिला उसके चंगुल से छूटी और बाहर आकर चिल्लाने का प्रयास करने लगी। इस पर आरोपी ने महिला के बाल पकड़कर उसे अंदर खींच लिया।आरोपी ने महिला को जमीन पर पटक दिया और घर में रखे तवे से उस पर वार किया। महिला दर्द से छटपटाने लगी तो उसकी छाती पर चढ़ गया और उसके गले को हाथ से दबा दिया। इसके बाद भी महिला बचने का प्रयास करती रही।

इस पर आरोपी ने छटपटा रही महिला के गले पर पैर रख दिया और उसे दबा दिया, जिसके कारण महिला की मौत हो गई। इसके बाद महिला के हाथ में पहनी चांदी की चूड़ियां निकाल लीं और वहां से भाग निकला। आरोपी आधा दर्जन से ज्यादा बार अलग-अलग अपराधों में जेल जा चुका है। आरोपी जब भी जेल से छूटकर आता नए अपराध की रणनीति बनाता और उसे अंजाम देने के बाद कुछ दिन ऐश करता था।

*

 

 

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here