पत्नी की नशे की आदत से परशान था पति, हत्या कर लिए 6 टुकड़े

0
4

सीतापुर राजधानी दिल्ली में मिले श्रद्धा के 35 टुकड़ों के बाद पूरे देश में इसकी चर्चा हो रही है। एक ओर पुलिस श्रद्धा हत्याकांड की जांच में जुटी हुई है और आरोपी से पूछताछ कर उसके सबूत जुटाने की कोशिश कर रही है। वहीं, दूसरी ओर देश के अलग-अलग हिस्सों से ऐसे सनसनीखेज मामले लगातार सामने आ रहे हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश के सीतापुर में एक महिला की टुकड़ों में लाश मिली। 14 दिन की तफ्तीश के बाद पुलिस ने महिला के आरोपी पति को गिरफ्तार कर सनसनीखेज खुलासा किया है। इस हत्याकांड के बाद गांव में डर फैला हुआ है।

ये भी पढ़ें- भाजपा पार्षद की पीट-पीटकर हत्या, पत्नी ने दोस्तों पर लगाया आरोप

पुलिस ने बताया कि सीतापुर जिले के रामपुरकला गांव में 9 नवंबर की सुबह महिला के शव के टुकड़े मिले थे। पुलिस ने 14 दिनों तक मामले की जांच की जिस में सामने आया कि महिला के पति मैं ही उसकी हत्या कर शव के 6 टुकड़े कर दिए थे। फिर दो दिनों तक उसे ठिकाने लगाते रहा पुलिस ने आरोपी पंकज को गिरफ्तार कर लिया है।

पंकज ने पुलिस को बताया कि, उसकी पत्नी स्नेहा पिछले 8 सालों से नशे की गिरफ्त में थी। इसके चलते ना तो बच्चों की अच्छे से परवरिश हो पा रही थी और उनपर बुरा प्रभाव भी पड़ रहा था। उसकी पत्नी नशा करने के लिए किसी से भी संबंध बना लेती थी। इसके चलते वह बहुत परेशान रहता था। उसने अपनी पत्नी को बहुत समझाया लेकिन वह नहीं मानी। उसे इससे बाहर निकालने के लिए आर्थिक तंगी के बावजूद उसकी दवा भी करवाता रहा लेकिन स्नेहा पर इसका भी कोई असर नहीं हो रहा था। वह दवा भी एकसाथ खा जाती थी।

ये भी पढ़ें-  52 IPS अफसरों का होगा प्रमोशन, 25 नवंबर को DPC में फैसला

नशा नहीं मिलने पर वापस 10 दिनों तक घर से बाहर रहती थी। कई बार गांव के लोगों से नशा करने के लिए पैसे मांगे। जब उन्होंने देने से मना कर दिया तो उनसे संबंध बनाने के लिए कहने लगी। गांव के लोग पंकज का मजाक बनाने लगे थे, उससे अश्लील बातें करते थे। स्नेहा की इसी आदत से परेशान होकर उसने अपने दोस्त दुर्जन के साथ मिलकर उसकी हत्या का प्लान बनाया।

7 नवंबर को स्नेहा फिर घर से कहीं निकल गई। इस पर दुर्जन उसका पीछा करते हुए एक खंडहर में जा पहुंचा, जहां पहले से कुछ लोग मौजूद थे। उन लोगों ने स्नेहा को नशा दिया और वहां से चले गए। स्नेहा के बेहोश होने पर दुर्जन ने पंकज को वहां बुलाया और गला दबाकर पहले उसकी हत्या कर दी। फिर शव को ठिकाने लगाने के लिए उसके 6 टुकड़े किए। इसके बाद उन्हें बोरे में भरकर 2 दिनों तक आसपास के खेतों में फेंकते रहे। गांव के लोगों को खून से सनी बोरी दिखाई दी तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here