शिवाजी की गीता, औरंगजेब की अंगूठी के नाम पर करोड़ों की ठगी, फ़िल्मी-हस्तियों और राजनेताओं से है संबंध

0
82

केरल: केरल के एक यूट्यूबर ने प्राचीन कलाकृतियों और अवशेषों के नाम पर लोगों से करोड़ों की ठगी की है। उस पर आरोप है कि वह खुद को प्राचीन कलाकृतियों का संग्रहणकर्ता बताता था। इतना ही नहीं उसने लोगों से जल्द ही एक संग्रहालय बनाने की भी बात कही थी। कई लोगों की एकसाथ शिकायत के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

केरल के चेरथला का रहने वाला यूट्यूबर माॅनसन मावुंकल दावा करता है कि उसके पास टीपू सुल्तान का सिंहासन, मूसा की निशानी, औरंगजेब की अंगूठी, छत्रपति शिवाजी की भगवत गीता और सेंट एंटनी के नाखून जैसी कई दुर्लभ वस्तुएं मौजूद है। लोगों ने आरोप लगाया है कि इन्हीं वस्तुओं के कलेक्शन के नाम पर उसने करोड़ों रूपयों की ठगी की है।

ये भी पढ़ें- धन-दौलत और खजाने के लालच में अंधा हुआ पति, तांत्रिक के कहने पर देने लगा बलि

माॅनसन कई सालों से लोगों से इस तरह के दावे और झूठी कहानियां सुनाता आ रहा है। उसने लोगों से कहा कि कई शाही परिवारो ने उससे कलाकृतियां खरीदी है। इसके लिए उसे जो लाखों रुपयों का भुगतान किया गया, वह पैसा विदेशी बैंको में फंसा है। उसका कहना है कि ये सारा पैसा आ जाने के बाद वह कोच्चि मे एक संग्रहालय बनवाएगा।

26 सितंबर को एकसाथ कई लोगों की शिकायत के बाद जब पुलिस ने क्राइम ब्रांच ने कोच्चि में उसके किराए के मकान में छापेमारी की तो पता चला कि उसने अधिकांश कलाकृतियां एक स्थानिय बढ़ाई से डिजाइन करवाई थी। जिन कलाकृतियों को लेकर वह बड़े-बड़े दावे करता था, वह सब नकली थी। आरोपी माॅनसन के पास कई लग्जरी कारें भी है।

ये भी पढ़ें- बिना नदी में डूबे 3 बच्चे, एक का शव मिला, दो अभी भी लापता

आरोपी के खिलाफ याकूब पुरायिल, अनूप वी अहमद, सलीम एडाथिल, एमटी शमीर, सिद्दीकी पुराइल और शैनिमोन ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को एक संयुक्त शिकायत भेजी थी। इस धिकायत में उन्होंने बताया था कि जून 2017 से मॉनसन ने उनके साथ 10 करोड़ रुपये की ठगी की थी।

जांच में पता चला कि पिछले कुछ वर्षों में आरोपी मॉनसन ने राजनीति, नौकरशाही और सिनेमा जगत की कई हस्तियों के साथ रिश्ते बना लिए थे। शिकायत के अनुसार मॉनसन प्रभावशाली लोगों के नाम का इस्तेमाल करता था। विशेष रूप से पुलिस अधिकारियों और राजनेताओं के नाम का इस्तेमाल उन लोगों के सामने करता था, जिनके पास उसका पैसा बकाया था।

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here