अर्जुन ठाकुर गोलीकांड में शराब सिंडिकेट सरगना एके सिंह और पिंटू भाटिया भी नामजद आरोपी, गिरफ्तारी के डर से भागते फिर रहे हैं सरगना

0
909

इंदौर। 4 दिन पहले शराब सिंडीकेट के दफ्तर में शराब ठेकेदार अर्जुन ठाकुर पर गोली चलाने के मामले में सिंडिकेट के कर्ता-धर्ता एके सिंह और पिंटू भाटिया भी नामजद आरोपी हो गए हैं। सिंडिकेट की अगुवाई करने वाले यह दोनों शराब कारोबारी गिरफ्तारी के भय से इधर उधर भाग रहे हैं और अपने राजनीतिक संरक्षण की शरण में चले गए हैं। इंदौर पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी के लिए 5 टीमें बनाई है।

ये भी पढ़ें- शराब सिंडिकेट गैंगवार: अब अर्जुन ठाकुर ने गृहमंत्री से लगाई गुहार , एके सिंह और पिंटू भाटिया को भी आरोपी बनाएं

सोमवार को गोली लगने के बाद अर्जुन ठाकुर (Arjun Thakur) ने जो एफआईआर(FIR) दर्ज करवाई थी उसमें चिंटु ठाकुर, हेमू ठाकुर, सतीश भाऊ (Satish Bhau) के अलावा एके सिंह और पिंटू भाटिया (Pintu Bhatia) सहित कुछ लोगों के नाम थे। विजयनगर पुलिस (Vijay nagar police) ने इस मामले में केवल चिंटू ठकुर हेमू ठाकुर और सतीश भाऊ को ही नामजद करते हुए बाकी अन्य का उल्लेख किया था। इसी को लेकर काफी बवाल मचा हुआ था। अस्पताल में इलाज करवा रहे अर्जुन ठाकुर ने इंदौर के डीआईजी, एसपी पूर्व तथा अन्य अधिकारियों को पत्र भेजकर कहा था कि उसकी FIR में नाम होने के बावजूद क्यों एके सिंह और पिंटू भाटिया को नामजद आरोपी नहीं बनाया गया है।‌ अर्जुन ने बुधवार को इस मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Dr Narottam Mishra) को भी पत्र लिखा था।

ये भी पढ़ें- शराब सिंडिकेट से 9 आहाते हथियाकर 20 लाख रुपए महीने कमाता था गुंडा सतीश भाऊ

उच्च पदस्थ पुलिस सूत्रों के मुताबिक एके सिंह और पिंटू भाटिया को भी नामजद आरोपी बना लिया गया है। दोनों की तलाश जारी है ‌। इन दोनों आरोपियों के कई बड़े नेताओं से संबंध है लेकिन मौके की नजाकत को देखते हुए कोई मदद के लिए आगे नहीं आ रहा है। सिंह ने दिल्ली के अपने कुछ राजनीतिक संपर्कों से भी मदद मांगी थी लेकिन उन्होंने भी हाथ खड़े कर दिए। दोनों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम अलग-अलग स्थानों पर भेजी गई है।  कुछ नजदीकी लोगों को भी पुलिस ने राउंडअप किया है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here