अवैध डीजल बेचने के आरोप में युवक की बेरहमी से पिटाई, 30 हजार रुपये लेकर छोड़ा

0
248

इंदौर: इंदौर पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया है। अवैध डीजल बेचने के शक में पुलिस ने युवक को केबिन में बंद कर बुरी तरह पीटा। इसके साथ ही युवक के परिवार से 50 हजार रुपये मांगे गए। बाद में 30 हजार रुपये लेकर उसे छोड़ दिया गया। हालांकि, इस पूरे मामले पर टीआई का कहना है कि युवक पर अवैध डीजल बेचने का आरोप है। उसके साथ कोई मारपीट नहीं की गई है। वह झूठ बोल रहा है।

ये भी पढ़ें- कांग्रेस नेता ने पत्नी की गोली मारकर की हत्या

मामला विजय नगर थाने का है। जानकारी के मुताबिक़, मोहित M.com फाइनल इयर का छात्र है। पढ़ाई के साथ मोहित ने ट्रेवल एजेंसी शुरू की है। शनिवार रात मोहित को परिवार के साथ बाहर जाना था। इसके लिए उसने डीजल के डब्बे बाहर रखे थे। इस दौरान विजय नगर थाने के बीट अधिकारी मोहित की दुकान पर पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी। इस छानबीन में जवानों ने 25 लीटर डीजल जब्त किया।

ये भी पढ़ें- बाइक पर जिंदा जला युवक, बहन और भांजा-भांजी की भी मौत

इसके बाद बीट आरक्षक राजू और अजय अवैध तरीके से डीजल बेचने के आरोप में मोहित को थाने लेकर आ गए। उन्होंने थाने पर टीआई रवीन्द्र गुर्जर के सामने मोहित को प्लास्टिक के पाइप से कई घंटों तक पीटा। घटना के बाद पुलिस जवानों ने मोहित के पिता विनोद देवलिया को फोन लगाया और मोहित की गिरफ्तारी की जानकारी दी।

ये भी पढ़ें- दर्शन कर लौट रही दंपत्ति को ज़िंदा खा गया भालू, पांच घंटे बाद रेस्क्यू

विनोद ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें धमकी दी थी कि वह उसके बेटे को मादक पदार्थों की तस्करी में उलझा देंगे। उन्होंने बताया कि मैं जब थाने पहुंचा तो मोहित बुरी तरह रो रहा है। वह कह रहा था कि, ‘पापा किसी भी तरह मुझे यहां से निकालो’। ये देख मैंने तुरंत 30 हजार रुपये दोनों जवानों को दिए। पैसा मिलते ही दोनों ने मोहित को थाने से छोड़ दिया।

 

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here