निगम उपायुक्त के खिलाफ दहेज़ प्रताड़ना और मारपीट का आरोप, शादी में खर्च करवाए 90 लाख

0
37

ग्वालियर: मध्यप्रदेश के ग्वालियर नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर अतिबल सिंह यादव और उनके परिवार पर उनकी छोटी बहू ने दहेज प्रताड़ना, मारपीट और धमकाने की शिकायत दर्ज कराई है। उपयुक्त की छोटी बहू ने आरोप लगाया है कि ससुरालवाले उसे मायके से 20 लाख रुपये लाने का दबाव बनाते है। रुपये नहीं लाने पर साथ नहीं रखने की धमकी देते है। इतना ही नहीं, मांग पूरी नहीं होने पर उसे भूखा रखा जाता है। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

ये भी पढ़ें- दिन में तारीफ, रात में रिश्वत लेते गिरफ्तार TI

पुलिस ने बताया कि नगर निगम उपायुक्त अतिबल सिंह यादव के अरुण यादव की शादी थाटीपुर की रहने वाली रेखा यादव के साथ हुई थी। रेखा ने बताया कि सगाई में उसके पिता ने 10 लाख रुपये नगद दिए थे। वहीं, शादी में 15 लाख रुपये नगद, क्रेटा कार, अरुण को सोने का ब्रेसलेट व अन्य गहने व पूरे परिवार को सोने की अंगूठियां सहित करीब 90 लाख रुपये खर्च किए थे।

ये भी पढ़ें-8 महीने बाद गिरफ्तार पुलिस पर हमला करने वाला आरोपी, धम्शान को बनाया था ठिकाना

शादी के बाद सबकुछ ठीक था लेकिन कुछ समय बाद सासुरव के लोग कम दहेज़ लाने की बात कहकर उसे ताने मारने लगे। ससुर अतिबल यादव, पति अरुण यादव, सास सुमन यादव, जेठ वरुण यादव, जेठानी गौरी दहेज न लाने के उलाहना देते थे। उनका कहना था कि मायके से 20 लाख रुपये लाने पर हो उसे अच्छे से रखेंगे। मांग पूरी नहीं होने पर 18 अगस्त 2021 को उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। फरवरी 2022 में वह वापस ससुराल पहुंची तो फिर सभी लोग उसे प्रताड़ित करने लगे।

ये भी पढ़ें- लद्दाख: नदी में गिरा सेना का वहन, 7 जवान शहीद

उसे छोड़कर तीन-चार दिन के लिए बाहर चले गए और बिजली कटवा गए। खाने के लिए कुछ नहीं देते थे। इसके बाद फिर रेखा को घर से निकाल दिया, जिससे परेशान होकर उसने महिला थाने में मामले की शिकायत की। नगर निगम उपायुक्त अतिबल सिंह यादव का नाम व्यापमं कांड में भी उछल चुका है। बेटे को सॉल्वर के जरिए प्री मेडिकल टेस्ट पास कराने पर उनके खिलाफ जांच हुई थी। इस दौरान वह करीब एक महीने तक फरार रहे थे। बाद में लौटने के बाद पूरे मामला सैटल हो गया था।

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here