पैसों के लिए व्यापारी ने पत्नी से की मारपीट, 22 लाख का मांगा दहेज

0
39

महू: रुपए नहीं देने पर पति द्वारा पत्नी को पीटने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि कपड़ा व्यापारी ने एक साल पहले इंदौर की महिला से शादी की थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही बहुत उससे पैसों की मांग करने लगा। पैसे नहीं देने पर उससे मारपीट करने लगा। महिला ने पुलिस में शिकायत करने की कोशिश की तो पुलिस ने आवेदन लेकर रख लिया। लगातार मांग करने के बाद पुलिस ने दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज कर लिया लेकिन गर्भपात के केस से उसे बचा लिया। मामला मध्यप्रदेश के महू का है।

ये भी पढ़ें- प्रेमिका और उसके पिता को आरक्षक ने घर में घुसकर मारी गोली, फिर ट्रेन के आगे कूदकर की आत्महत्या

जानकारी के मुताबिक, 25 साल की महिला ने पति के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। महिला ने बताया कि मार्च 2022 में उसकी शादी विपिन के साथ हुई थी। शादी के 8 दिन बाद ही पति ने रुपए की मांग शुरू कर दी। उसने कहा कि उसे बिजनेस के लिए कुछ पैसा चाहिए। वह अपने मायके से लेकर आए। इस पर महिला ने रुपया होने से मना कर दिया तो पति ने उसके साथ मारपीट की। इस दौरान महिला का एक माह का गर्भ गिर गया।

जब महिला के पिता को इस बात की जानकारी लगी तो उन्होंने दामाद से बात की। इस दौरान विपिन का व्यवहार ठीक नहीं था तो उन्होंने पांच लाख रुपए दे दिए। इसके बाद भी विपिन का व्यवहार नहीं बदला। पत्नी के अकाउंट से एक लाख रुपए मांगने लगा। इससे मना करने पर मारपीट की तो भाई ने एक लाख रुपए और दे दिए। जब महिला 7 माह की गर्भवती हो गई तो विपिन ने पत्नी के नाम से 6 लाख रुपए का लोन ले लिया।

विपिन ने लोन की किस्तें भी नहीं भरी और गर्भ में पल रहे बच्चे को मारने की धमकी दी। इससे डरकर महिला मायके चली गई। पत्नी के जाने पर विपिन में उसकी पूरी ज्वेलरी गिरवी रख दी और पैसा बिजनेस में लगा दिया। इसके बाद भी पत्नी के मायके वालों से 22 लाख रुपया की मांग करता रहा।

ये भी पढ़ें – शादी का झांसा देकर हाई कोर्ट की वकील से रेप, फेसबुक पर हुई थी दोस्ती

16 अप्रैल को महिला को बेटा हुआ, इसके बाद भी विपिन का व्यवहार नहीं बदला। उसमें फिर पत्नी के साथ मारपीट की। उसने पत्नी की सीन दे अपने नाम पर ट्रांसफर करा दी और बैंक का सारा पैसा निकाल लिया। महिला ने जब पुलिस में आवेदन दिया तो पुलिस ने सिर्फ दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज। धोखाधड़ी और गर्भपात जैसे गंभीर मामलों में पति को आरोपी नहीं बनाया गया है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here