पति से चल रहा था झगड़ा, महिला ने भतीजे की हत्या कर दफनाया

0
8

मुजफ्फरपुर: आर्थिक तंगी से परेशान महिला ने अपने ही तीन साल के भतीजे की हत्या कर दी। हत्या के बाद घर में ही गड्ढा खोदकर उसे गाढ़ दिया। फिर मुट्टी से लीपकर उसपर अगरबत्ती जला दी, ताकि बदबू ना आए। आर्थिक तंगी के कारण महिला का पति से झगड़ा होता रहता था। उसका पति कुछ दिनों से अपने भाई के यहां रह रहा था। नहीं बात महिला को नागवार गुजरी और उसने भतीजे से बेरहमी से हत्या कर दी। घटना बिहार के मुजफ्फरपुर की रविवार रात की है।

ये भी पढ़ें- खेलते समय बच्चे का किया अपहरण, आखें फोड़ी, उखाड़े नाखून

पुलिस के मुताबिक़, महिला ने रविवार शाम अपने भारीजे नीतिक की पहले गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद घर के बरामदे में दो फीट का गड्ढा खोदकर उसे गाढ़ दिया। उसके ऊपर मिट्‌टी से लीपकर चाची अगरबत्ती जला रही थी। ताकि किसी को बदबू ना आए। महिला के भी 2 बच्चे हैं। दोनों बच्चों की उम्र 5 और 2 साल है।

ये भी पढ़ें- एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत, मृतकों में चार बच्चे शामिल

नितिक के पिता विनय कुमार का कहना है कि विभा और उसका पति आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे, इसी को लेकर दोनों के बीच झगड़ा होता रहता था। विभा का पति 15 दिनों से हमारे घर पर ही रह रहा था और खाना भी यहीं खाता था। रविवार को सभी खेत पर काम के लिए गए थे। नितिक घर पर ही खेल रहा था। काम से लौटने पर नितिक नहीं दिखा तो उसकी तलाश शुरू की।

ये भी पढ़ें- एक ही परिवार के 6 लोगों की मौत, मृतकों में चार बच्चे शामिल

इस पर उसने विभा देवी से बच्चे के बारे में पूछा, तो उसने कहा कि नितिक को नहीं देखा है। कुछ देर बाद उसे घर में मिट्टी खोदते देखा तो वजह पूछने पर बोली कि चूहों की वजह से मिट्टी दबा रही है। शक होने पर मिट्टी खोदा गया। मिट्टी खोदने पर बच्चे का पैर बाहर आया। तब जल्दी से बच्चे को बाहर निकाला गया। वह मृत अवस्था में था।

ये भी पढ़ें- सरकारी स्कूल के टीचर ने छात्र को बेरहमी से पीटा, टूटी रीढ़ की हड्डी

पिता ने बताया कि बच्चे के मुंह में पूरी तरह से बालू, मिट्टी और पत्थर कोंच दिया गया था। भाभी ने बच्चे को मारकर अपने ही कमरे में दफना दिया था। किसी से कोई झगड़ा नहीं था। बच्चे को मारने का कोई वजह भी नहीं बताई।पिता विनय कुमार ने बताया कि वह चार भाई हैं। सभी की शादी हो चुकी है। विनय की दो बेटी और एक बेटा नितिक था। वे चारों भाई खेत में काम करने गए हुए थे।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here